Post Office MIS Scheme क्या है, पूरी जानकारी हिंदी में

Post Office MIS Scheme : यदि आप नियमित monthly income की तलाश में हैं, तो पोस्ट ऑफिस मासिक आय योजना (POMIS) आपके लिए उपयुक्त है क्योंकि यह गारंटीड रिटर्न के साथ जोखिम मुक्त है।

देखा जाए तो हमारे भारत में प्रत्येक साल नई नई स्कीम आती रहती हैं और उन स्कीम्स का लोगों द्वारा अच्छा समर्थन किया जाता है और उसे निरंतर प्रयोग में लाया जाता है। इसी तरह की एक स्कीम है,POMIS जिसका फुल फॉर्म (POST OFFICE MONTHLY INCOME SCHEME) खाता solo या joint रूप से खोला जा सकता है, एक अभिभावक (नाबालिग की ओर से कार्य करना) या 10 वर्ष से अधिक आयु का नाबालिग उनके नाम पर एक MIS खाता खोल सकता है।

मासिक आय योजना (MIS) एक निवेश योजना है जो निवेशक को 6.60% प्रति वर्ष की ब्याज दर पर गारंटीकृत रिटर्न का वादा करती है। इन रिटर्न का लाभ निश्चित मासिक आय के रूप में लिया जा सकता है।

पोस्ट ऑफिस मासिक आय योजना (POMIS) भारतीय डाक सेवा की एक निवेश योजना है। यह निवेशक को निश्चित मासिक आय के रूप में 6.60% प्रति वर्ष की दर से रिटर्न की गारंटी देता है। अनुभवी निवेशक MIS को फंड पार्क करने के लिए सबसे स्मार्ट निवेश योजनाओं में से एक मानते हैं क्योंकि यह आपको तीन गुण देता है – आपकी पूंजी को बरकरार रखता है, ऋण साधनों की तुलना में बेहतर रिटर्न देता है और एक निश्चित मासिक आय का विश्वास दिलाता है।

शहरी निवेशक अक्सर POMIS में निवेश करने से हिचकते हैं। क्योंकि वह सोचते है की यह बहुत पुरानी दुनिया लगती है लेकिन जैसा कि आप जानते हैं कि यह डाकघर था जिसने भारत में बैंकिंग सेवाओं की शुरुआत की और अभी भी देश में सबसे बड़ा बैंकिंग सेवा प्रदाता है। फाइनेंस मिनिस्टर द्वारा प्रशासित होने के कारण यह किसी भी अन्य प्रकार के निवेश की तुलना में कहीं अधिक विश्वसनीयता का दावा करता है।

Post Office MIS की मुख्य विशेषताएं

POMIS की प्रमुख विशेषताएं निम्नलिखित इस प्रकार है।

  1. परिपक्वता अवधि – 1 दिसंबर 2011 से प्रभावी, योजना की परिपक्वता अवधि खाता खोलने की तिथि से 5 वर्ष (60 महीने) है।
  2. खाता धारकों की संख्या – POMIS खाते व्यक्तिगत रूप से या संयुक्त रूप से (अधिकतम तीन एडल्ट होल्डर) रखे जा सकते हैं
  3. जमा की न्यूनतम और अधिकतम राशि – POMIS में जमा राशि की न्यूनतम सीमा रु. 1,000 (और उसके बाद 1,000 करके कई बार में) जमा कर सकते है।
  4. इनरोलमेंट फैसिलिटी – इनरोलमेंट फैसिलिटी उपलब्ध है और लाभार्थी (अर्थात परिवार के सदस्य) द्वारा खाता खोलने के बाद बाद में इसे अपडेट किया जा सकता है। हालांकि, लाभार्थी केवल खाताधारक की मृत्यु के बाद ही लाभों का दावा कर सकता है।
  5. स्थानांतरण सुविधा – पोमिस खातों को एक डाकघर से दूसरे डाकघर में स्वतंत्र रूप से स्थानांतरित किया जा सकता है।
  6. डाकघर मासिक आय योजना बोनस – 1 दिसंबर 2011 को या उसके बाद खोले गए खातों पर कोई बोनस उपलब्ध नहीं है। पहले खोले गए खाते जमा राशि पर 5% बोनस के लिए पात्र थे।
  7. टैक्सेबिलिटी – यह योजना आयकर की धारा 80सी के अंतर्गत नहीं आती है और यह कराधान के अधीन है। इसके अलावा, इसमें कोई TDS(Tax Deducted at Source)भी नहीं है।

पोमिस अकाउंट एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में ट्रांसफर किया जा सकता है। सबसे अच्छी बात यह है कि इसे बिल्कुल free किया जा सकता है।

प्रत्येक डाकघर जमा के लिए, आपको एक अलग खाता खोलना होगा। अच्छी बात यह है कि एक व्यक्ति ‘N’ नंबर के खाते खोल सकता है (बेझिझक ऊपरी सीमा तक)।

निवेशक(Investor) अपने डाकघर मासिक आय योजना खाते के लिए नॉमिनी भी नियुक्त कर सकता है। इसलिए, उनके दुर्भाग्यपूर्ण निधन की स्थिति में उनके नामित व्यक्ति को उनके पैसे प्राप्त करने का अधिकार हो जाता है।
अच्छी खबर यह है कि आपकी पूंजी को खत्म करने के लिए यहां कोई टीडीएस (टैक्स डिडक्शन एट सोर्स) नहीं है।

एमआईएस(MIS) के लिए देखा जाए तो इसकी अवधि 5 वर्ष है। एक प्रकार से आपको 5 साल बाद राशि निकाल लेनी चाहिए। अवधि के अंत में, आपको निवेश किया गया हर एक पैसा वापस मिल जाएगा। यह तो आप जानते है की आप इस पूरी अवधि के लिए अपनी निश्चित मासिक आय प्राप्त करते रहें। हालांकि अगर आपको 5 साल से पहले पैसा निकालना है, तो नीचे दिए गए बिंदु को पढ़िए और तब आगे की प्रक्रिया करिए।

•1 वर्ष के अंदर जमा राशि निकालें – आपको कुछ नहीं मिलता

•1 से 3 वर्षों में जमा को वापस लें – आपको अपनी जमा राशि 2% की मामूली कटौती (जुर्माना के रूप में) के बाद वापस मिल जाएगी।

•3 साल के बाद जमा को वापस लें – आपको अपनी जमा राशि 1% की मामूली कटौती (जुर्माना के रूप में) के बाद वापस मिल जाएगी।

पोमिस(POMIS) के लिए पात्रता मानदंड

POMIS को जोखिम से बचने वाले investors के लिए डिज़ाइन किया गया है, जिसमें इक्विटी की संख्या अधिक है, जो निश्चित monthly payment के source की तलाश में है। यह सीनियर सिटीजन और रिटायर्ड लोगों की ज़रूरतों के लिए सबसे उपयुक्त है, जिन्होंने अभी-अभी no paycheck zone में प्रवेश किया है और एक सुरक्षित नियमित आय प्राप्त करने के एकमात्र उद्देश्य के साथ एकसाथ निवेश करने के लिए तैयार हैं ताकि उन्हें बनाए रखा जा सके। आसान भाषा में कहे, डाकघर मासिक आय योजना उन लोगों के लिए है जो आय के long term नियमित स्रोत की तलाश में हैं।

साधारण पात्रता यह है कि निवेशक एक निवासी भारतीय होना चाहिए। NRI डाकघर मासिक आय योजना में निवेश नहीं कर सकते हैं। इस डाकघर बचत योजना की सबसे अच्छी बात यह है कि प्रवेश आयु की निचली सीमा 10 वर्ष निर्धारित की गई है। तो फिर 10 साल का नाबालिग भी अपने नाम पर POMIS खाता खोल सकता है। एक नाबालिग द्वारा निवेश की जा सकने वाली अधिकतम राशि अलग है।

आप POMIS खाते में कितना जमा कर सकते हैं

यह खाता कम से कम 1,000 रुपये और 1,000 रुपये के गुणकों के साथ(एक एक हजार करके) खोला जा सकता है। एक single खाते में 4.5 लाख रुपये तक, जबकि एक joint खाते में 9 लाख रुपये तक हो सकते हैं।
Joint खाते में, प्रत्येक joint धारक के पास एक equal निवेश भाग होता है। सभी MIS खातों में एक व्यक्ति की कुल जमा या शेयर 4.5 लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।

जरूरी डॉक्युमेंट्स क्या है इस स्कीम के लिए

पहचान प्रमाण: सरकार द्वारा जारी ID की कॉपी जैसे पासपोर्ट / वोटर आईडी कार्ड / ड्राइविंग लाइसेंस / आधार आदि।

पते का प्रमाण: सरकार द्वारा जारी ID या हाल ही में उपयोगिता बिल।

फोटोग्राफ़: पासपोर्ट आकार के फ़ोटो

पोमिस(POMIS) अकाउंट कैसे खोलें?

डाकघर मासिक आय योजना (POMIS) के तहत खाता खोलने के लिए नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें-

Step 1. सबसे पहले आपके पास एक post office saving account होना चाहिए। यदि आपके पास खाता नहीं है तो वही खाता खोलें।

Step 2. अपने डाकघर से एक आवेदन पत्र प्राप्त करें या POMIS खाता आवेदन पत्र डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक https://www.indiapost.gov.in/VAS/DOP_PDFFiles/form/Accountopening.pdf

Step 3. पोस्ट ऑफिस में सभी आवश्यक दस्तावेजों की self attested copy के साथ फॉर्म भरें और जमा करें। वेरिफिकेशन के लिए आपको बेसिक दस्तावेज़ ले जाने होंगे।

Step 4. नाम, जन्म तिथि और मोबाइल नंबर का मेंशन करें। नॉमिनेटेड व्यक्तियों की (यदि कोई हो)

Step 5. नकद या चेक के माध्यम से शुरुआती जमा (न्यूनतम रु.1000/-) करने के लिए आगे बढ़ें।

यह स्कीम कैसे काम करता है- पोमिस

खाता खोलने के बाद जो लोग इन्वेस्ट करना चाहते है उनको उपयुक्त निवेश करने की आवश्यकता होती है। सिंगल खाते के लिए 1,000 रुपए निवेश की न्यूनतम अमाउंट है और 4,50,000 रुपए निवेश की अधिकतम राशि है।

एक joint खाते के लिए, 1,000 रुपए निवेश की न्यूनतम राशि है और 9,00,000 रुपए निवेश की अधिकतम राशि है।

एक उदहारण के तौर पे आप समझिए तो आप 5 साल की अवधि के साथ 1,00,000 रुपये का निवेश करते हैं। जैसा की आप जानते है की वार्षिक ब्याज दर 6.60% होने से रुपये की एक निश्चित मासिक आय होती है( 550 रुपए per month) और योजना अवधि( 5 साल) के अंत में आपको अपना जमा धन वापस मिल जाएगा।

पोमिस(POMIS) के क्या लाभ हैं?

पोस्ट ऑफिस आय योजना के लाभ हैं –
  • पूंजी(capital) संरक्षण- जैसा कि सरकार इसका समर्थन करती है, यह पैसा वापसी सुरक्षित है।
  • कम जोखिम वाला निवेश- डाकघर मासिक आय योजनाओं में ऑनलाइन बाजार capitalization में कोई जोखिम शामिल नहीं है।
  • लॉक-इन अवधि- कम से कम 5 वर्ष lock in अवधि है जिसे सही रूप से पूर्ण होने के बाद वापस लिया जा सकता है।
  • अफोर्डेबल प्रीमियम अमाउंट- अन्य योजनाओं की तुलना में प्रति माह प्रीमियम कम है और आसानी से payable है।
  • मल्टीपल फंड ओनर- एक से अधिक मालिक संयुक्त धारकों के रूप में एक खाते के मालिक हो सकते हैं।
  • लेन-देन में आसानी- जमा, निकासी सहित पैसे का लेन-देन बहुत आसान है।
  • जोखिम से बचने वाले निवेशकों के लिए अच्छा- डाकघर मासिक आय योजना (POMIS) जोखिम से बचने वाले निवेशकों के लिए सबसे अच्छी योजना है और मासिक आय चाहती है। यह लंबी अवधि के निवेश और नियमित आय की तलाश करने वालों के लिए हितजनक है। सीनियर सिटीजन के लिए यह सबसे अच्छी योजना है।

Leave a Comment

istanbul diyetisyen -

seo ajansı

- mersin escort