Ayurved Gyan : तनाव दूर करने के लिए आयुर्वेद में छिपे हैं जबरदस्त उपाय

कोरोना के कारण बहुत से लोग अनिद्रा, तनाव और चिंता का शिकार हो रहे है ऐसे में उनके पास सबसे अच्छा उपाय है आयुर्वेद का सहारा ले, क्योकि आयुर्वेद में अनिद्रा, तनाव और चिंता का अचूक उपाय छिपा है। चलिए देखते की कैसे आयुर्वेद कारगर है इन बीमारियों में –

उत्तम आहार –
उत्तम आहार का मतलब है की आप रोजाना ताज़ी जड़ी-बूटियां,   सूखे मेवे, ताज़े फल, सब्ज़ियां, अंकुरित अनाज, साबुत अनाज, दालें, बीज, शहद, दूध, डेयरी को शामिल करे। अच्छे और सही खानपान से आपके चेतना का स्तर बढ़ जाता है। अगर आयुर्वेद  की मने तो इस तरह के आहार का सेवन से व्यक्ति बहुत ही शांत, ऊर्जा से भरा हुआ और सौहार्दपूर्ण  होता है। 

योग –
योगासन की मदद से व्यक्ति अपने मन को शांत और तनाव को दूर करता है। योगासन के तीन मुख्य बातें है की ये मन, शरीर और आत्मा पर केंद्रित है।  योगासन से बहुत से बीमारिया दूर होती है, ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है , वजन पर नियंत्रण रखता है।  

तेल मालिश-

आयुर्वेद में कहा गया है की अगर रोजाना अश्वगंधा, चंदन हर्बल तेल से व्यक्ति के शरीर पर मालिश की जाये तो डोपामाइन और सेरोटोनिन बढ़ता है।  मालिश की वजह से शरीर सेहतमंद और आकर्षक बना रहता है। और अन्य फायदे भी जैसे ब्लड सर्कुलेशन सही रहता है, नस-नाड़ियों को ताकत मिलती है कमजोरी दूर हो जाती है। 

गर्म पानी का उपयोग –
हल्के गर्म पानी से नहाने से दिमाग का तनाव दूर होता है। और गर्म पानी पीने के भी फायदे है। 

हर्ब्स-
मस्तिष्क क्षमताओं को बेहतर बनाने के लिए आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां का उपयोग करना चाहिए। ब्राह्मी एडाप्टोजेनिक बूटी है  ये तंत्रिका तंतुओं में सुधार करता है। 

Note:-

मैं आशा करता हूँ की आपको लेख पसंद आया होगा लेकिन मैं आपसे विनम्र निवेदन करता हूँ की कोई उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक की सलाह जरूर ले।

Leave a Comment