इंडियन स्पेस एसोसिएशन(ISPA) Program kya hai?

इंडियन स्पेस एसोसिएशन(ISPA) Space संबंधी plans के निर्धारण में मदद करेगा। यह Space Industry से जुड़े लोगों को एकसाथ लाकर सरकार के साथ डील कराएगा।यह नई टेक्नोलॉजी के बारे में जानकारी साझा करेगा, ताकि नए स्पेस Startup को मौका मिल सके। भारत को अंतरिक्ष उद्योग की दुनिया में ऊंचे मुकाम पर पहुंचाया जा सके। इस संघ में सरकारी, गैर-सरकारी, defence,communication,startup आदि समेत कई उद्योग के लोगों शामिल हैं, जो किसी भी प्रकार से अंतरिक्ष संबंधी सेवाएं लेते हैं।
इसके अलावा ब्रॉडकास्टिंग कम्यूनिकेशन सैटेलाइट्स(broadcasting communication satellite),ग्लोबल वीडियो चैनल्स(global video channels),डीटीएच(DTH),डायरेक्ट ब्रॉडकास्ट सैटेलाइट्स(direct broadcasting satellite,पोजिशनिंग(positioning), नेविगेशन(navigation) और टाइमिंग सिस्टम(timing system) के लिए काम करेगा। इससे संबंधित business और startup के idea और products को सरकार तक पहुंचाने में मदद करेगा। फिर उनकी क्षमता के हिसाब से उन्हें ISRO की मदद से अंतरिक्ष में launch कराने का plan किया जाएगा,ताकि इसका उपयोग public aviation और commercial sector में फैलाया जा सके।

भारतीय अंतरिक्ष संघ के बारे में(About ISPA)

आत्मनिर्भर भारत के माननीय प्रधान मंत्री के दृष्टिकोण को केंद्रित करते हुए और सरकार द्वारा किए गए अंतरिक्ष क्षेत्र में हाल के सुधारों से प्रोत्साहित होकर,ISpA भारतीय अंतरिक्ष उद्योग(indian space industry) की सामूहिक आवाज बनने की प्रबल इच्छा रखता है। ISpA भारत को आत्मनिर्भर, technical रूप से उन्नत और अंतरिक्ष क्षेत्र में success खिलाड़ी बनाने के लिए सरकार और उसकी agencies सहित भारतीय अंतरिक्ष क्षेत्र में सभी हितधारकों के साथ नीतिगत बात चीत करेगा और संलग्न करेगा।

ISpA का लक्ष्य आत्मनिर्भर भारत के तहत सभी भागीदारों को साथ लेकर Indian Space Industry को विश्वव्यायी स्तर पर high level पर ले जाना है। इंडियन स्पेस सेक्टर(Indian Space Sector) के लिए निजी कंपनियों के लिए अच्छे और महावतपूर्ण वातावरण बनाना, उन्हें हर तरह की सुविधाएं और मौके प्रदान करना आदि ऐसी तमाम नीतियां बनाई है ताकि वो देश के हित में कार्य कर सकें और देश को सफल बना सके।
Indian Space Association देश में broadband connectivity के लिए काम करेगा, ताकि लोगों को देश के हर कोने पर तेज गति वाला इंटरनेट provide कराया जा सके। Mobile communication के लिए काम करेगा ताकि 5G और उसके बाद आने वाली
नई तकनीकों के प्रचार हर जगह हो सके इसके लिए वह मोबाइन नेवटर्क ऑपरेटर्स के साथ मिलकर काम करना पसंद करेगा। साथ ही Application निर्माण करने वाले नए startup और पुरानी कंपनियों को एकसाथ लेकर आएगा और आगे आने वाली नई generation को नई नई technique से अवगत कराएगा।

भारतीय अंतरिक्ष संघ (Indian Space Association – ISpA) का मतलब observation,इसका मतलब धरती पर देख rekh करने वाले रिमोट सेंसिंग सैटेलाइट्स(remote sensing satellite) की नई टेक्नोलॉजी विकसित करने, लॉन्च करने, निजी और सरकार संस्थाओं को जोड़ने का काम भी करेगा। इन Satellites को अगर हम इस मुकाम तक ले जाएंगे तो हमें आपदा प्रबंधन, कृषि, जंगल, मछली उत्पादन और रक्षा क्षेत्र के लिए काफी मदद मिलेगी।

ISpA कई ऐसी संस्थाओं को मिलाकर चलेगा जो अंतरिक्ष की दुनिया से संबंधित तकनीकों को बनाते और समझते है,यदि एक भी technique बीच से खराब जाए तो प्रोग्राम फेल होने की सम्भावना बढ़ सकती है। इसलिए इसमें सब तकनीक से जुड़े लोगों को एक साथ लेके चलने का mission चलाया जाएगा।

आपको पता होगा की अभी तक ISRO खुद रॉकेट बनाता था या फिर एक-दो निजी संस्थाएं को लेकर काम करता था, लेकिन अब भारत में भी रीयूजेबल रॉकेट बनेंगे और ISpa के हिसाब से इस mission को कंट्रोल करा जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए वर्चुअल तौर पर नए अंतरिक्ष संघ ISpA का शुभारंभ किया। नया संघ अंतरिक्ष और उपग्रह कंपनियों का संघ होगा। यह अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में एक independent agency के रूप में कार्य करेगी।

लॉन्च के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि सरकार ज्यादातर sectors को प्राइवेट खिलाडियों के लिए खोलना चाहती है। अलग अलग उद्योग विशेषज्ञों ने इस बढ़ते हुए कदम की सराहना की है। संयुक्त राज्य अमेरिका जैसे देशों ने पहले ही इस क्षेत्र को निजी खिलाड़ियों के लिए खोलने की अनुमति दे दी है। सफलता का एक चमकदार उदाहरण Elon Musk का spacex है।

पीएम मोदी ने यह भी संकेत दिया कि नई spacecom नीति योजना के अंतिम चरण में है। पीएम मोदी ने कहा कि यह घातीय नवाचार का समय है, न कि रैखिक नवाचार का। यह तभी संभव है जब सरकार एक प्रवर्तक की भूमिका निभाए न कि हैंडलर की। आज सरकार अपनी विशेषज्ञता और नए विचार साझा कर रही है और निजी क्षेत्र के लिए launch pad provide करा रही है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) को local area के लिए खोला जा रहा है।

नई एजेंसी का उद्देश्य अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में विभिन्न खिलाड़ियों को एक साथ लाना और तकनीकी विशेषज्ञता के क्षेत्र में भारत को आत्मनिर्भर बनाना है।

ISpA का प्रतिनिधित्व अंतरिक्ष और उपग्रह प्रौद्योगिकियों में उन्नत क्षमताओं वाले प्रमुख घरेलू और वैश्विक निगमों द्वारा किया जाता है। इसके संस्थापक सदस्यों में भारती एयरटेल(Indian Airtel), लार्सन एंड टुब्रो(Larsen and Toubro), नेल्को (टाटा ग्रुप)(Nelco), वनवेब(Oneweb), मैपमायइंडिया(Mapmyindia) वालचंदनगर इंडस्ट्रीज (Walchandnagar Industries) और अल्फा डिजाइन टेक्नोलॉजीज(Alpha Design Technologies) शामिल हैं। अन्य मुख्य सदस्यों में गोदरेज(Godrej), ह्यूजेस इंडिया(Hughes India) अनंत टेक्नोलॉजी लिमिटेड(Ananth Technology Limited) अज़िस्ता-बीएसटी एयरोस्पेस प्राइवेट लिमिटेड(Azista-BST Aerospace Private Limited), बीईएल(BEL) सेंटम इलेक्ट्रॉनिक्स(Centum Electronics), मैक्सार इंडिया(Maxar India) आदि शामिल हैं।

माननीय प्रधान मंत्री ने उद्योगों में सुधार लाने में साहसिक और दूरदर्शी नेतृत्व का प्रदर्शन भी किया है और ISpA भारत को एक मजबूत (मेक इन इंडिया) तत्व के साथ अंतरिक्ष में अग्रणी बनाने के अपने दृष्टिकोण को साझा करता है। हमारे विशाल talent pool के साथ, घरेलू प्रौद्योगिकी स्टार्टअप और निजी उद्यमों की बढ़ती क्षमता के साथ देश अंतरिक्ष क्षेत्र में एक बड़ी छलांग लगाने के एक मोड़ पर है। ISpA में, हम उद्योग के एक दृष्टिकोण को तालिका में लाने और विकास की बाधाओं को दूर करने के लिए मूल्य श्रृंखला में हितधारकों के साथ काम करने के लिए तत्पर हैं।

और भी पढ़े हिंदी में –

-Dhani Card क्या है? Dhani Pay card Benefits in Hindi
-31 कमाल की वेबसाइट जिनके बारे में आपको जानना चाहिए।
-Virtual meeting tips: इंटरव्यू के दौरान कैमरे के संपर्क में जाने से पहले आपको क्या करना चाहिए?
-WhatsApp कंपनी का फरमान यूजर्स को 16 तरह की शर्तो मानना होगा
-होठों का कालापन दूर करे(blackness of the lips)
-महामारी बालों के झड़ने की खतरनाक वजह बन गई है?

Leave a Comment

istanbul diyetisyen -

seo ajansı

- mersin escort