छोटे गांवों, शहरों या कस्बों में नए जमाने और नए तकनीक वाले, उद्यमियों(entrepreneurs or businessmen)लिए कुछ व्यावसायिक विचार है।

आत्मानिर्भर भारत जैसे मिशन, सरकार द्वारा प्रचारित और समर्थित विचार तकनीकी और आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनने के बारे में है। यह नए जमाने के उद्यमियों(businessman) को एक सफलता की ओर लेने के लिए प्रोत्साहित करता है और भविष्य में कुछ कर कुजरने के लिए प्रेरित करता है। सरकार की पहल सिर्फ बड़े शहर के उद्यमियों के लिए नहीं है, बल्कि यह छोटे शहर / गांव स्तर के उद्यमियों के लिए भी है। गांव के युवा बड़ी आसानी से इसे कम लागत में शुरू कर सकते है।

लगभग 70% से ज्यादा आबादी गांवों और छोटे शहरों में रहती है, इसलिए इन क्षेत्रों में नए व्यवसाय शुरू करने के अवसर बहुत कारगर साबित हो सकते हैं। हालांकि ग्रामीण इलाकों में ज्यादातर व्यवसाय प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से कृषि या संबंधित क्षेत्र पर निर्भर हैं, इसलिए समय के साथ तलाशने और सफलता की ओर बढ़ने के कई सुनहरे अवसर उपलब्ध हैं।

कुछ व्यवसायिक विचार जो छोटे गावों या छोटे शहरों में खोजे जा सकते हैं और उन्हें एक सफल व्यवसाय में तबदील किए जा सकते है।

छोटे पैमाने की निर्माण इकाइयां (small scale manufacturing units)

ग्रामीण क्षेत्र और छोटे शहर स्थानीय क्षेत्र में मांग को पूरा करने के साथ-साथ आस-पास के कस्बों और छोटे शहरों में उत्पादों(products) की पूर्ति करने के लिए छोटे पैमाने पर विनिर्माण इकाइयां शुरू करने के लिए एक सफल और सुनहरा मौका हैं। ये विनिर्माण इकाइयाँ अलग अलग उत्पादों के लिए हो सकती हैं जैसे;
• अगरबत्ती
• मोमबत्ती / माचिस
• पेपर कप/पेपर प्लेट
• पैकेजिंग उत्पाद
• डिस्पोजेबल बैग, इत्यादि।

इन सब उत्पादों का शहरी क्षेत्रों में एक बड़ा बाजार है, जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में कच्चा माल अधिक मात्रा में है जो त्वरित रिटर्न (quite returns) के साथ एक लाभदायक व्यवसाय बन जाता है।

उर्वरक/कीटनाशक की दुकान(fertilizer or pesticide store)

यह व्यवसाय छोटे शहरों या कस्बों के मुकाबले ग्रामीण में अत्यधिक लाफदायक बन सकता है इसके पीछे कई कारण है। जैसा की ग्रामीण अर्थव्यवस्था काफी हद तक कृषि(farming)पर आधारित है, इसलिए उर्वरक/कीटनाशक व्यवसाय शुरू करने के लिए यह सही आर्थिक समझ में आता है। व्यवसाय शुरू करने से पहले लाइसेंस(license) के लिए आवेदन करना आवश्यक है। इसके अलावा, आप उर्वरक और कीटनाशकों के साथ बीज भी रख सकते है और इसे बाहरी स्थानों में भी बेच सकते है यह व्यवसाय काम लागत और ज्यादा मुनाफा वाला है।

जैविक सब्जियां या फल(organic vegetables or fruits){organic farming}

जैविक(organic) फल और सब्जी बाजार तेजी से आगे बढ़ रहा है और गांवों के पास बस रहा है और छोटा शहर उत्पाद उगाने और विपणन शुरू करने के लिए एक अच्छा व्यावसायिक अवसर प्रस्तुत करता है। हालांकि व्यवसाय शुरू करना आसान नहीं है और उपज उगाने के लिए किसानों के साथ खेत या अनुबंध की आवश्यकता होती है। इसके अलावा ये खराब होने वाले सामान हैं और भंडारण के लिए प्रशीतन(refrigeration) की आवश्यकता होती है। कम परिवहन और रसद शुल्क के लिए विक्रेताओं के करीब व्यवसाय शुरू करने की सलाह दी जाती है जिससे वह अपने व्यवसाय को आगे तक ले जा सके।

टेंट हाउस व्यवसाय(Tent House business)

यह व्यवसाय छोटे से लेकर बड़े शहरों, गावों या फिर कस्बों में बहुत ही ज्यादा सफल है आजकल लोग, छोटी बर्थडे पार्टी हो, शादी की रस्म हो या
कोई और सुनहरा अवसर, आपके घर पर कुछ लोगों को आमंत्रित किया जाता है। कुछ व्यवस्था करने के लिए, कुछ वस्तुओं की आवश्यकता होती है, और उनमें से कुछ एक तम्बू, पंखा, प्रकाश, कुर्सी और अन्य चीजों की जरूरत होती हैं। यहां, टेंट हाउस एक सामान्य वस्तु है जिसे हमेशा समारोहों और अवसरों पर घर पर अतिरिक्त व्यवस्था करने के लिए किराए पर लिया जाता है। यदि आप निवेश कर सकते हैं और व्यवसाय शुरू करने की योजना बना रहे हैं, तो टेंट हाउस व्यवसाय विचार शुरू करना एक अच्छा विकल्प है। टेंट हाउस के इस व्यवसाय से, आप शादी के अवसरों या किसी भी पार्टी के लिए ऑर्डर प्राप्त करने की उम्मीद कर सकते हैं। लेकिन इससे पहले कि आप इस व्यवसाय को शुरू करें, आपको इसकी बुनियादी आवश्यकताओं के बारे में पता होना चाहिए।

दूध या डेयरी केंद्र(milk or dairy centre)

ग्रामीण क्षेत्रों में दूध की अधिकता के कारण दूध केंद्र चलाना एक अच्छा व्यवसायिक विचार है। यह विभिन्न घरों से दूध एकत्र कर सकता है और इसे डेयरी फार्मों में आपूर्ति कर सकता है। केंद्र(business) शुरू करने के लिए धन की आवश्यकता कम है, लेकिन व्यवसाय चलाने के लिए व्यक्ति को योग्य होना ज़रूरी है। डेयरी फार्म से जुड़कर ही दूध का संग्रहण व आपूर्ति किया जा सकता है। एक स्थानीय डेयरी परियोजना शुरू करने के लिए, किसी को धन की आवश्यकता होती है जिसे बैंकों सहित विभिन्न वित्तीय संस्थानों से प्राप्त किया जा सकता है।

पपीते की खेती(farming of papaya)

यह एक व्यवसाय जिससे आप कम लागत और ज्यादा मुनाफा कमा सकते है। आप गांव में 2 बीघे के खेत में पपीते की खेती कर सकते हैं। इसमें पपीते की किस्मों(variety) की जांच करके उनकी खेती कर सकते है। भारतीय कृषि अनुसंधान केंद्र ने पांच किस्मे पपीते की बताई हैं उसमें पूसा(pusa)डिलेसियस, पूसा मेजेस्टी, पूसा जायंट(giant), पूसा नन्हा और पूसा ड्वार्फ(dwarf) शामिल हैं। खेते की लिए पूसा ड्वार्फ को सबसे अच्छा माना जाता है। ये लगभग 4 सेंटीमीटर की लंबाई से भी पपीते का उत्पादन शुरु कर देते हैं। साथ ही इसके पौधे पर घने पपीतों के गुच्छे लगे होते हैं। एक अनुमान के मुताबिक एक एकड़ खेत में 18 से 20 लाख रुपए तक की आय हो जाती है। इसके लिए आप पूसा केंद्र से पूरी जानकारी ले सकते हैं।

कपडे की दूकान(clothing store)

ज्यादातर बहुत खास मौकों पर या दैनिक जरूरतों के लिए कपड़े खरीदने के लिए बड़े शहरों की यात्रा करना गांवों में बहुत आम है। अच्छे ब्रांड, कपड़े और विविधता के साथ एक कपड़ों की दुकान शुरू करना सफलता का एक निश्चित शॉट तरीका है, और इसके लिए मालिक के पास परिधान आपूर्तिकर्ताओं से आपके अच्छे संपर्क हों और आपूर्ति श्रृंखला बरकरार होनी चाहिए। आजकल ब्रांड चीजों की ज्यादा चाह है अगर आप ब्रांड या नए फैशन डिजाइनिंग की चीजे अपने ग्राहकों को अवतरित कराएंगे तो इससे व्यवसाय में ज्यादा मुनाफा हो सकता है। आप सिलाई(tailoring) सेवाओं की व्यवस्था भी कर सकते हैं और स्टोर पर ग्राहकों के लिए हाथ से बने उत्पाद प्रदान कर सकते हैं।

कोचिंग सेवाएं(tutor service)

ग्रामीण इलाकों में योग्य शिक्षकों की कमी एक बड़ी समस्या है और केंद्र में कार्यरत योग्य शिक्षकों के साथ एक शिक्षण केंद्र शुरू करना एक अच्छा व्यवसायिक विचार हो सकता है। यह न केवल योग्य स्थानीय युवाओं को रोजगार प्रदान करेगा बल्कि लोगों को बच्चों के लिए अपने घरों के करीब एक अच्छा शिक्षण संस्थान खोजने में मदद करेगा। व्यवसाय के लिए अधिक पूंजी और स्थान की आवश्यकता नहीं पड़ती है, और यह तलाशने का एक अच्छा व्यावसायिक अवसर है, लेकिन हां आपके पास केंद्र चलाने के लिए योग्यता और आवश्यक कौशल हो जिससे बच्चो को पढ़ाई में बिल्कुल तकलीफ न हो। इसके लिए जरुरी नही की शिक्षक बहुत ही पढ़े लिखे हो लेकिन हा उनके पास पढ़ाने की योग्यता के साथ साथ तजुर्बा भी होना आवश्यक है।

और भी पढ़े हिंदी में –

-31 कमाल की वेबसाइट जिनके बारे में आपको जानना चाहिए।
-Virtual meeting tips: इंटरव्यू के दौरान कैमरे के संपर्क में जाने से पहले आपको क्या करना चाहिए?
-WhatsApp कंपनी का फरमान यूजर्स को 16 तरह की शर्तो मानना होगा
-होठों का कालापन दूर करे(blackness of the lips)
-महामारी बालों के झड़ने की खतरनाक वजह बन गई है?
-महामारी बालों के झड़ने की खतरनाक वजह बन गई है?
-डार्क सर्कल्स से कैसे छुटकारा पाए ( how to get rid off dark circles):
-आंखों की देखभाल कैसे करें । उसके घरेलू उपाय और खान पान ।
-पर्सनल लोन(personal laon) क्या है ?
-Loan की जानकारी , Loan , types, Loan lene ke liye kya karna pdega
-अगर आप हिमाचल घूमना चाहते है तो उससे पहले ये ब्लॉग जरूर पढ़े
-वजन को आसानी से घटाने के उपाय(Easy Weight Loss Tips)
-भारत में 10 सांस्कृतिक स्थलों की यात्रा अवश्य करें

1 thought on “छोटे गांवों, शहरों या कस्बों में नए जमाने और नए तकनीक वाले, उद्यमियों(entrepreneurs or businessmen)लिए कुछ व्यावसायिक विचार है।”

  1. Sahi kha apne aksar log gao bekar samjh kar chod kar city me jate paise kamane ke liye lekin covid me sabko samjh me aa gaya. Aise hi jankari dete rahye

    Reply

Leave a Comment